एक बार करके ऐतबार लीख दो।
कीतना हे मुजसे प्यार लीख दो।

तरस रहे हे बडी देर से।
ईस बार अपनी मोहब्बत का ईजहार लीख दो।



ज्यादा नहीं लीख सकते तो मत लीखो।
मोहब्बत भरे लफ्ज दो चार लीख दो।

एक बार लीखो मोहब्बत हे मुजे तुमसे।
फीर वही लफ्ज सो बार लीख दो.......




› See More: Aitbar likh do ek baar