जिस समय रावण मरणासन्न अवस्था में था, उस समय भगवान श्रीराम ने लक्ष्मण से कहा कि इस संसार से नीति, राजनीति और शक्ति का महान् पंडित विदा ले रहा है, तुम उसके पास जाओ और उससे जीवन की कुछ ऐसी शिक्षा ले लो जो और कोई नहीं दे सकता।

श्रीराम की बात मानकर लक्ष्मण मरणासन्न अवस्था में पड़े रावण के सिर के नजदीक जाकर खड़े हो गए।

रावण ने कुछ नहीं कहा।



लक्ष्मण जी वापस रामजी के पास लौटकर आए। तब भगवान ने कहा कि यदि किसी से ज्ञान प्राप्त करना हो तो उसके चरणों के पास खड़े होना चाहिए न कि सिर की ओर।

यह बात सुनकर लक्ष्मण जाकर इस बार रावण के पैरों की ओर खड़े हो गए।

उस समय महापंडित रावण ने लक्ष्मण को तीन बातें बताई

जो जीवन में सफलता की कुंजी है।
1. Whatsapp से दूर रहना
2. Facebook का उपयोग मत करना और
3. गाड़ी चलाते समय लड़कियों को मत देखना नहीं तो मुझसे भी बुरा हाल होगा
ध्यान से पढ़ने के लिए धन्यवाद्!